पढाई में मन ना लगे तो क्या करे

आज की पोस्ट स्पेशल स्टूडेंट्स  के लिए है. किसी भी क्लास या किसी भी तरह की स्टडी करने वाले या एग्जाम की तयारी करने वाले स्टूडेंट के लिए पोस्ट बहुत ही काम की है .जैसा की हम सब जानते है की दिमाग के सोचने की शक्ति या क्षमता बहुत ज्यादा होती है .एक मिनिट में हमारा दिमाग लगभग 30-40 चीजो के बारे में सोचता है .और इसकी कोई लिमिट भी नहीं है दिमाग कितना भी सोच सकता है किसी भी जगह व्यक्ति के बारे में सोच सकता है . हमारा दिमाग  कभी सोचना बंद नहीं कर सकता है चाहे हम कितनी भी कोशिश कर ले .

ऐसे ही जब हम पढाई करते है तो जो कुछ हमारी बुक में है वो हम सोचने लगते है और सोचते सोचते काफी देर तक सोचते है और उसी से संबधित बाते सोचते रहते है . और इसी तरह हमारा ध्यान पढाई में  केंद्रित नहीं होता या हमारा मन पढाई में नहीं लगता इसके और भी कई कारण होते है जिस से आप अपनी पढाई पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते और आपको कुछ याद नहीं होता है.

पढाई में मन ना लगे तो क्या करे ?

 

हमारा मन पढाई में क्यों नहीं लगता ?

दोस्तो ,
अक्सर प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करने वाले प्रतियोगियों के सामने यह समस्या आती है , कि पढाई में मन नही लगता है । मगर पढना प्रतियोगी परीक्षा के लिए बहुत जरुरी है । तो मेरे अनुभव और विचार से तो सबसे पहले पढाई में मन न लगने के कारन का पता लगाना चाहिए कि आखिर पढाई में मन क्यों नही लग रहा है ?

१- पढाई का उपयुक्त माहौल का न होना ।
२- पढने का उचित समय का न होना ।
३- पढने के लिए उपयुक्त सामग्री का न होना ।
४- उचित मार्गदर्शन का न होना ।
५-अन्य कार्यो से व्यवधान ।
६- एकाग्रता की कमी होना ।
७- दृढ निश्चय का अभाव

 

अगर आप पास का वातावरण ऐसा नहीं की आप पढाई पर ध्यान लगा सके तो आप आपने आस पास का वावरण को थोडा बदलने की कोशिश करे अगर आपके आस पास ज्यादा शोर या घर में ज्यादा शोर है तो उन्हें कम करने की कोशिश करे .

पढाई का समय आपको निर्धारित करना पड़ेगा पहले आप अपने दिन में होने वाले कामो की list बनाये और उन्हें ऐसे adjust करे जिस से आपको पढाई के लिए ज्यादा समय मिल सके .

पढाई में ध्यान न लगाने का एक कारण ये भी की आपके पास सामान नहीं है . इसका सबसे बढ़िया तरीका ये की आप एक मेज ले उस पर पानी पढाई का सारा सामान रखे और पढाई शुरू करने से पहले देखले की आपकी जरूरत का सारा सामान है या नहीं ताकि आपको बार बार उठ कर सामान न ऐना पड़े और आपका ध्यान पढाई में लगा रहे .

Proper Guidance न मिलने पर भी आपका ध्यान पढाई पर नहीं लगता या आप अच्छे से पढाई नहीं कर पाते तो इसके लिए आप अपने senior से मदद ले सकते है .

दुसरो कामो को करने का एक टाइम टेबल बनाये और उन्हें उसी समय पर करे ताकि आपको पढाई करने में दिक्कत न और आप अच्छे से पढाई कर सके.

 

पढ़ाई में आने वाली रुकावट :

1. Regular स्टडी नहीं करना – आप में से कई बच्चे ऐसे होंगे जो सिर्फ Exam के दिनों में पढ़ते होंगे। या Exam से कुछ दिन पहले पढ़ना शुरू करते हैं।

2. क्रिकेट या किसी और गेम में ज्यादा समय देना – खेलना शारीरिक और मानसिक दोनों स्वास्थ्य के लिए बहुत ज़रूरी है। पर ज़रूरत से ज्यादा समय क्रिकेट देखने या किसी और गेम, में बिताना आपके स्वास्थ्य के साथ साथ आपकी पढ़ाई में भी बाधक है।

3. T.V या Internet में ज्यादा रूचि होना – News या दूसरे ज्ञानवर्धक Program देखना अच्छा है पर T.V व Internet पर ऐसी बहुत सी चीज़े हैं जो न केवल हमारा समय बेकार करती है बल्कि हमारा पढ़ाई में भी मन नहीं लग पाता।

4. आलस्य का होना – बच्चों में आलस्य का होना उनकी असफलता का सबसे बढ़ा कारण है। जिन बच्चों के अच्छे नंबर आते है ऐसा नहीं है की उनकी बुद्धि आपकी बुद्धि से ज़्यदा तेज़ है। बस उनमे एक Quality है वो बिना आलस्य किये लगातार लगे रहते है।

 

ये कुछ सिंपल टिप्स है जिनकी मदद से आप अपनी पढाई में ज्यादा मन लगा सकते है और ज्यादा से ज्यादा स्टडी कर सकते है 

पढाई करते समय ध्यान देने योग्य बाते :
१ – पढाई हमेशा कुर्सी-टेबल पर बैठ कर ही करें , बिस्तर पर लेट कर बिलकुल भी न पढ़े । लेटकर पढने से पढ़ा हुआ दिमाग में बिलकुल नही जाता , बल्कि नींद आने लगती है ।
२ – पढ़ते समय टेलीविजन न चलाये और रेडियो या गाने भी बंद रखे ।
३ – पढाई के समय मोबाइल स्विच ऑफ़ करदे या साईलेंट मोड में रखे ,” मोबाइल पढाई का शत्रु है ”
४ – पढ़े हुए पाठ्य को लिखते भी जाये इससे आपकी एकाग्रता भी बनी रहेगी और भविष्य के लिए नोट्स भी बन जायेंगे ।
५- कोई भी पाठ्य कम से तीन बार जरुर पढ़े ।
६ – रटने की प्रवृत्ति से बचे , जो भी पढ़े उस पर विचार मंथन जरुर करें ।
७ – शार्ट नोट्स जरुर बनाये ताकि वे परीक्षा के समय काम आये ।
८- पढ़े हुए पाठ्य पर विचार -विमर्श अपने मित्रो से जरुर करें , ग्रुप डिस्कशन पढाई में लाभदायक होता है।
९ – पुराने प्रश्न पत्रों के आधार पर महत्वपूर्ण टोपिक को छांट ले और उन्हें अच्छे से तैयार करें ।
१० – संतुलित भोजन करें क्योंकि ज्यादा भोजन से नींद और आलस्य आता है , जबकि कब भोजन से पढने में मन नही लगता है ,और थकावट, सिरदर्द आदि समस्याएं होती है ।
११- चित्रों , मानचित्रो , ग्राफ , रेखाचित्रो आदि की मदद से पढ़े । ये अधिक समय तक याद रहते है ।
१२- पढाई में कंप्यूटर या इन्टरनेट की मदद ले सकते है ।
इस तरह से आप पढाई में मन लगा सकते है , अगर फिर भी पढाई में मन नही लगता तो आप टिपण्णी में अपनी समस्या लिख सकते है ।

Sarkari Portal

SarkariPortal - Team

Author | Blogger @SarkariPortal | View more articles